Wed. Sep 26th, 2018

नोटबंदी हुई फेल, बैंकों में वापस आए 99% से ज्यादा पुराने नोट

नोटबंदी के इस ऐलान के 21 महीने बाद भारतीय रिजर्व बैंक -आरबीआई ने अपनी एनुअल जनरल रिपोर्ट में आंकड़े जारी किए हैं, जिसमें बताया गया है कि 500 और 1000 रुपये के 99.3 प्रतिशत पुराने नोट बैंकों में वापस आ गए हैं.

नोटबंदी हुई फेल, बैंकों में वापस आए 99% से ज्यादा पुराने नोट

नोटबंदी के इस ऐलान के 21 महीने बाद भारतीय रिजर्व बैंक -आरबीआई ने अपनी एनुअल जनरल रिपोर्ट में आंकड़े जारी किए हैं, जिसमें बताया गया है कि 500 और 1000 रुपये के 99.3 प्रतिशत पुराने नोट बैंकों में वापस आ गए हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 को देशभर में हजार और पांच सौ रुपये के पुराने नोट का चलन बंद किए जाने का ऐलान किया था, जिसके बाद लोग बैंकों में लंबी कतार में लगकर इन नोटों को वापस जमा कराया था. नोटबंदी के इस ऐलान के 21 महीने बाद आरबीआई ने अब इससे जुड़े आंकड़े जारी किए हैं, जिसमें बताया गया है कि 99.3 फीसदी पुराने नोट बैंकों में वापस आ गए. आरबीआई ने बुधवार को आंकड़े जारी कर बताया है कि नोटबंदी के दौरान 15 लाख 41 हजार करोड़ रुपये चलन में थे. इनमें से 15 लाख 31 हजार करोड़ रुपये अब तक वापस आ चुके हैं.

आंकड़ों पर एक नज़र- आरबीआई के ताजा आंकड़ों के मुताबिक,नोटबंदी के समय मूल्य के हिसाब से 500 और 1,000 रुपये के 15.41 लाख करोड़ रुपये के नोट चलन में थे.
>> रिजर्व बैंक की रिपोर्ट में कहा गया है कि इनमें से 15.31 लाख करोड़ रुपये के नोट बैंकों के पास वापस आ चुके हैं.
>> सालाना आंकड़े में बताया गया है कि मार्च 2018 तक बैंक नोट के सर्कुलेशन में 37.7 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई है.

>> इसी तरह, बैंक नोट का वॉल्यूम 2.1 प्रतिशत बढ़ा है. इसी तरह मार्च 2017 तक 500 रुपये के नए नोट और 2000 रुपये के नोट की सर्कुलेशन हिस्सेदारी 72.7 प्रतिशत दर्ज की गई थी जो मार्च 2018 तक बढ़कर 80.2 प्रतिशत हो गई.

जाली नोटों में भी आई कमी- रिपोर्ट में इसके साथ ही बताया गया कि नोटबंदी के बाद साल 2017-18 में जाली नोटों में भी कमी आई है. 2015-16 में 632926 जाली नोट पकड़े गए थे, जबकि 2016-17 में 762072 जाली नोट की पकड़े गए थे. वहीं 2017-18 में 522783 जाली नोट की पहचान हुई है. आरबीआई के मुताबिक, जाली नोटों में 31.4% की कमी देखी गई है. 100 रुपये के जाली नोट की पहचान में 35 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, जबकि 50 रुपये का जाली नोट 154.3 फीसदी बढ़ा है. बैंकों में 500 रुपये के 9892 नए जाली नोट और 2000 रुपये के 17929 जाली नोट की पहचान हुई है.

1 thought on “नोटबंदी हुई फेल, बैंकों में वापस आए 99% से ज्यादा पुराने नोट

  1. Hi, This is Prarthana Singh Yadav believes in true essence of global humanism, secularism beyond all regionalism, nationalism, cast, creed, colour (racism), communalism, groupism and religions etc. and of course your highly esteemed web portal and you tube channel india ajtak is expected to uphold the same spirit ahead to serve the world humanity.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *