Spinning Charkha brings harmony in the lives of spinners: Vinai Kumar Saxena, Chairman, KVIC

Spinning Charkha brings harmony in the lives of spinners: Vinai Kumar Saxena, Chairman, KVIC
Mumbai: Khadi And Village Industries Commission (KVIC) has taken another initiative of extending helping hand to the rural artisans from remote corners of Maharashtra by organizing Khadi Haat 2016 in the heart of Mumbai Metro city where a group of rural artisans across remote Villages of Maharashtra are selling their traditional handmade goods. With a view to provide organic and eco friendly goods to the buyers on this New Year festive season, this exhibition is organized from 26th December 2016 to 1st January 2016.
Shri Vinai Kumar Saxena, Chairman, KVIC Addressing the media on this occasion said, “this kind of act of promoting rural artisans in urban market not only serves the
cause of socio –economic unity of nation’s creative diversity but spinning Charkha transforms lives and brings harmony in the life of the spinner. Live example are the juvenile
Children who were provided training in spinning which has made them financially independent but has brought behavioral Changes, making them responsible citizen,” He said.
He briefed on the most recent MoU executed between KVIC and REC on 21st December 2016 which will extend financial support of Rs. 5.50 crores to setup composite
spinning, weaving and garment unit at Varanasi. He also briefed on tieup with other major organizations to increase sale and connecting with youth in Schools and Universities. This is developing taste of eco-friendly and ethnic taste among youth.
Speaking on effect of Demonetarization CEO KVIC, Ms Usha Suresh said, KVI sector was not much affected by this change of transaction. The departmental sales outlets
were already carrying out digital sale for e.g. in KVIC flagship store at New Delhi almost 91% retail sale is digital. This is effective way to develop a corruption free system.
Besides this she also informed about the KVIC’S organizing various awareness programmes about benefits of cashless transactions among Khadi and Village Industry
Institutions and artisans.
The exhibition Khadi Haat has attractive ethnic collection of herbal products, health food, attractive handmade paper, pottery, handicraft, wood craft, leather, aggarbatti,
honey, herbal products, pickles, cultural heritage, craftsmanship and extensive varieties eateries that reflects taste and showcase value of Maharashtra. First of this kind this
exhibition is a marketing support to artisans, institutions and entrepreneurs engaged in production of Khadi & Village Industries products predominantly in rural areas of
Maharashtra.
—-
चरखा कारीगरों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाता है: विनय कुमार सक्सेना, अध्यक्ष, खादी और ग्रामोद्योग आयोग
महाराष्ट्र में दूर दराज़ क्षेत्रों के ग्रामीण कारीगरों की साहायत हेतु खादी और ग्रामोद्योग आयोग ने मुंबई शहर के ह्रदय स्थल में खादी हाट 2016 का आयोजन कर मदद का हाँथ बढाया है जहाँ सम्पूर्ण
महाराष्ट्र से दूर दराज क्षेत्रों में रहने वाले ग्रामीण कारीगर सामूहिक रूप से अपने पारंपरिक हाँथ कागज़ की वस्तुओं की बिक्री कर रहे हैं | इस नव वर्ष में त्योहारों के अवसर पर क्रेताओं को जैविक एवं
पर्यावरण के अनुकूल उत्पाद उपलब्ध कराने की दृष्टि से यह प्रदर्शनी 26 दिसंबर 2016 से 1 जनवरी, 2016 तक आयोजित की जा रही है |
इस अवसर पर संबोधित करते हुए खादी और ग्रामोद्योग आयोग के अध्यक्ष श्री विनय कुमार सक्सेना ने कहा कि “शहरी बाजार में ग्रामीण कारीगरों को बढ़ावा देने के लिए इस प्रकार के कार्य न केवल
देश की रचनात्मक विविधता में सामाजिक – आर्थिक एकता का कार्य करता है, अपितु चरखा कारीगरों के जीवन में सामंजस्य स्थापित कर उनके जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाता है | जिसका जीवंत
उदाहरण बाल सुधार गृह के ऐसे किशोर बच्चे हैं जिन्हें कताई का प्रशिक्षण प्रदान किया जिसने वित्तीय स्वतंत्रता के साथ साथ व्यवहारिक बदलाव लाकर उन्हें एक जिम्मेदार नागरिक बना
दिया है |
नोटबंदी पर उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए जानकारी दी कि खादी ग्रामोद्योग आयोग के विक्रय केन्द्रों में लगभग 91 प्रतिशत लेनदेन के व्यवहार डिजिटल होते हैं | उन्होंने हाल ही में खादी और ग्रामोद्योग आयोग तथा आर. ई. सी. के मध्य 21 दिसंबर 2016 को हुए समझौते के बारे में भी जानकारी दी, जो वाराणसी में कताई, बुनाई एवं परिधान निर्माण इकाई के समग्र स्थापना हेतु 5.50 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायत में वृद्धि करेगा | खादी की बिक्री बढाने विद्यालयों, महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में युवाओं को जोड़ने के लिए उन्होंने बड़े संगठनों के साथ हुए समझौतों के बारे में जानकारी दी | यह युवाओं में पर्यावरण के अनुकूल मानसिकता तथा रूचि को बढ़ावा दे रहा है |
नोटबंदी के प्रभाव पर बोलते हुए खादी और ग्रामोद्योग आयोग की मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुश्री उषा सुरेश ने कहा कि लेन देन के तरीके में बदलाव के कारण खादी और ग्रामोद्योग क्षेत्र बहुत
अधिक प्रभावित नहीं हुआ है | विभागीय विक्रय केंद्र पहले से ही इस तरह के डिजिटल लेनदेन को व्यवहार में ला चुके थे उदाहरण के तौर पर नई दिल्ली स्थित खादी और ग्रामोद्योग आयोग के प्रमुख
स्टोर का लगभग 91 प्रतिशत खुदरा व्यवसाय डिजिटल व्यवहार के रूप में होता है | भ्रष्टाचार मुक्त प्रणाली बनाने का यह सबसे प्रभावी तरीका है | इसके अतिरिक्त उन्होंने खादी संस्थाओं और कारीगरों
के लिए कैश लेश व्यवहार के लाभ के बारे में खादी और ग्रामोद्योग आयोग के द्वारा आयोजित विभिन्न जागरूकता कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं |
प्रदर्शनी में हर्बल उत्पादों स्वस्थ्य वर्धक आहार आकर्षक हाँथ बने कागज़, हस्तशिल्प, काष्ठशिल्प, चर्म उत्पाद अगरबत्ती, मधु (शहद ) आचार, सांस्कृतिक विरासत, शिल्पकारी तथा खाद्य पदार्थों जो
महाराष्ट्र के स्वाद को दर्शाता है की, व्यापक किस्मों का प्रदर्शन किया गया है | यह इस तरह की पहली प्रदर्शनी है जो मुख्य रूप से महाराष्ट्र के ग्रामीण क्षेत्रों के कारीगरों, संथाओं तथा खादी और
ग्रामोद्योग उतापदों के उत्पादन में लगे हुए उद्यमियों के लिए एक विपणन सहायता हेतु प्रदर्शित की गई है |

About Admin

His interest in knowing people, places inspired him to join media and journalism as well as his thrust to knowing the unknown took him to experience the mystic world of Osho which was culminated into initiation by Oshodhara Sadguru Trivir in 2006 when he was renamed as Swami Satchidanand. IPS Yadav has been active journalist, writer, editor, content developer, designer, PR Consultant for more than two decades. He has authored thousands of news articles, stories of common people and celebrity interviews to his credit, published in several leading dailies, web portals and You Tube channels.
View all posts by Admin →

1 thought on “Spinning Charkha brings harmony in the lives of spinners: Vinai Kumar Saxena, Chairman, KVIC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *